देवेंद्र झझाड़िया ने जेवलिन थ्रो में जीता पहला गोल्ड !

0
300

Devendraपैरालिंपिक में देवेंद्र झझाड़िया ने जेवलिन थ्रो में वर्ल्ड रिकॉर्ड के साथ गोल्‍ड मेडल हासिल किया है. झझाड़िया ने 63.97 मीटर जेवलिन (भाला) फेंक नया विश्‍व रिकॉर्ड बनाया. उन्होने 2004 एथेंस खेलों में भी इसी स्‍पर्द्धा में स्‍वर्ण पदक जीता था. लगातार दो गोल्ड मेडल जीतने का करनामा करने वाले वो इकलौते खिलाड़ी बन गए है. झझाड़िया ने यह गोल्ड एफ 46 इवेंट में जीता. झझाड़िया ने एथेंस में 62.15 मीटर तक भाला फेंका था. लेकिन उन्होंने रियो पैरालंपिक में सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन कर विश्व रिकॉर्ड बना लिया है.

भारत का रियो पैरालिंपिक में यह दूसरा स्‍वर्ण पदक है और इन खेलों में यह भारत की अब तक की सबसे बड़ी कामयाबी है.

भारत के ही एक अन्‍य एथलीट रिंकू सिंह इसी स्‍पर्द्धा में पांचवें स्‍थान पर रहे. भारत की करफ से जेवलिन में हिस्‍सा लेने के लिए तीन एथलीट गए थे.

जेवलिन में ही तीसरे खिलाड़ी सुंदर सिंह गुर्जर से भी पदक की बड़ी उम्‍मीदें थीं लेकिन वह इवेंट के लिए समय पर स्‍टेडियम ही नहीं पहुंच पाए और इस तरह खेल में हिस्‍सा लेने से ही चूक गए. यह एथलीट के साथ-साथ अधिकारियों की संजीदगी पर बड़े सवालिया निशान खड़े करता है.

आपको बता दे, देवेंद्र झझाड़िया इकलौते ऐसे पैरालंपिक खिलाड़ी है जिन्हें 2012 में पूर्व राष्ट्रपति प्रतिभा पाटिल ने पद्म श्री पुरस्कार से सम्मानित किया था.

दीपा मलिक ने पैरालंपिक गोला फेंक इवेंट में जीता सिल्वर!

रियो पैरालंपिक: भारत के मारियप्पन ने जीता गोल्ड, वरुण ने दिलाया कांस्य!

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY