शमिंदर सिंह ने 12000 टूथपिक्स से बनाया विंबलडन सेंटर कोर्ट का नमूना

0
46

खेल के मैदान में खिलाड़ियों का हुनर तो हर कोई देखता है, लेकिन कई ऐसी प्रतिभाएं भी होती हैं जो मैदान के बाहर बैठकर भी लोगों का दिल जीत लेती हैं. ऐसी ही एक प्रतिभा हैं पंजाब के फगवाड़ा जिले के गांव धानोकी के शमिंदर सिंह, जिन्होंने 12000 टूथपिक्स से विंबलडन के सेंटर कोर्ट का हूबहू मॉडल तैयार किया है. इस मॉडल को बनाने के लिए शमिंदर ने बारीकियों का ध्यान रखा है. एक एक चीज को टूथपिक्स के जरिए हूबहू तैयार किया गया है.

shaminder

शमिंदर ने एक साक्षात्कार में बताया कि उन्होंने इस रेप्लिका को तैयार करने के लिए सप्ताह में 40 घंटे काम किया वहीं वह इस मॉडल को 10 महीने से बना रहे थे.

शमिंदर सिंह कहते है कि वह टेनिस के बहुत बड़े फैन है और यह मॉडल रोजर फेडरर को समर्पित करते है. 31 साल के शमिंदर एक ट्रक ड्राइवर है. वह चाहते है कि इस मॉडल को नीलाम किया जाए ताकि जो पैसा आए वह उसे चैरिटी में दे सके.

इस स्टेडियम के मॉडल में बाहरी चीजों को ही केवल नहीं बनाया गया है इसके अंदर की सभी चीजों को वैसे ही बनाया गया है जैसी असल में है. आपको बता दे, शमिंदर सिंह इससे पहले भी ऐसे मॉडल बना चुके है. उन्होंने इससे पहले ओल्ड ट्रैफर्ड और मैनचेैस्टर फुटबॉल स्टेडियम का भी मॉडल बनाया था. शमिंदर बताते है कि ओल्ड ट्रैफर्ड मॉडल विश्व का सबसे छोटा रेप्लिका था.

शमिंदर की प्रतिभा और उनके टेनिस से लगाव को देखते हुए विंबलडन प्रशासन ने उन्हें 15 जुलाई को होने वाले विंबलडन फाइनल मुकाबले के लिए आमंत्रित किया है. वह पहले ऐसे गैर-खिलाड़ी भारतीय है जिन्हें विंबलडन मैच के लिए आमंत्रित किया गया है. इससे पहले क्रिकेटर सचिन तेंडुलकर और विराट कोहली को विंबलडन में मैच देखने के लिए आमंत्रित किया गया था.

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY