मैं फतवो के बाद भी गाना नहीं छोड़ूंगी -नाहिद अाफरीन

0
122

सम में किशोरी गायिका नाहिद आफरीन के खिलाफ 46 मोलानाओ के खिलाफ फतवा जारी होने के बाद सरकार ने सुरक्षा मुहैया कराई है. नाहिद आफरीन को दो साल पहले इंडियन आइडल जूनियर की उपविजेता रह चुकी है. मुस्लिम धर्म के कुछ ठेकेदार उनके लड़की होकर स्टेज पर गाने को शरियत विरोधी ठहरा रहे है. आफरीन ने सोनाक्षी सिन्हा की फिल्म ‘अकीरा’ में उनके लिए एक गाना गया है और अपने गाये भजनों की वजह से भी वो असम में काफी लोकप्रिय हुई है.

16 साल की बेटी नाहिद आफरीन के गाने को इस्लाम विरोधी बताकर 46 इमामो का ना गाने का फतवा उनकी कट्टर, पिछड़ी और बेहद छोटी सोच की मिसाल है.

असम में पहली बार बनी बीजेपी सरकार के मुख्यमंत्री सर्वानंद सोनोवाल ने ट्विटर पर लिखा कि, “नाहिद से बात की है और हमने कलाकारों को सुरक्षा मुहैया करने के अपने वादे को दोहराया है.”

मुख्यमंत्री सोनोवाल ने कहा है कि, “प्रतिभाशाली गायिका नाहिद आफरीन को सार्वजनिक मंच पर गाने से रोकने वाली संस्थाओं के इस कदम की हम निंदा करते हैं.”

नाहिद आफरीन अभी महज 16 साल की हौ लेकिन अपने खिलाफ फतवे से वो डरी नहीं है. उन्होने कहा है कि, “ मेरी आवाज मेरे लिए अल्लाह का तोहफा है. पहली बार फतवे के बारे में सुनकर धक्का लगा लेकिन फिर मुझे कई मुसलमान गायकों से प्रेरणा मिली जिसके बाद मैंने तय किया कि मैं संगीत को कभी नहीं छोड़ूंगी.”

इंडियन आइडल जूनियर की उपविजेता रही नाहिद आफरीन के गाने की खिलाफत करने वालो जैसो ने इससे पहले कर्नाटक की सुहाना सईद का हिंदू धर्मिक गाना गाने, सानिया मिर्जा के टेनिस ड्रेस में खेलने, कश्मीर में लड़कियो के बैंड प्रगाश में गाने और दंगल की अदाकारा जायरा वसीम की लड़को से फिल्मी कुश्ती पर सवाल उठाकर साबित किया था कि वो अपनी ही कौम की बेटियो के दुश्मन है.

पूरी दुनिया में भारत ऐसा इकलौता गैर मुस्लिम देश है जहां सबसे ज्यादा मुसलमान है और वो खाड़ी के किसी भी मुस्लिम देश से ज्यादा अमन और शांति से रहते है. लेकिन कुछ कट्टरपंथी मुस्लिम भारत के मुसलमानो को अरब के कबीलो के कट्टर इस्लाम का गुलाम बनाना चाहते है.

मुहम्मद कैफ के सूर्य-नमस्कार और क्रिकेटर मुहम्मद शमी की पत्नी हसीन जहां की सुंदर पोशाक देखकर इसे धर्म विरुध्द ठहराने वाले धर्मांध भूल जाते है कि वो एक ऐसे लोकतांत्रिक देश में रहते है जिसकी सबसे बड़ी किताब संविधान है और उसकी नजर में सब बराबर और आजाद है.

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY