मुंबई ब्लास्ट: 16 जून को अबु सलेम और अन्यों पर आएगा टाडा का अंतिम फैसला

0
156

टाडा की विशेष अदालत 1993 बम ब्लास्ट केस में अबु सलेम सहित 7 दोषियों पर 16 जून को अपना अंतिम फैसला सुनाएगी. विशेष अदालत ने गैंगस्टर अबु सलेम, मुस्ता दौसा, फिरोज खान, ताहिर मर्चेट, रियाज सिद्दिकी, करीमुल्लाह शेख और अब्दुल कयूम पर अपना फैसला 16 जून तक के लिए सुरक्षित रख लिया है.

जानकारी के मुताबिक, गैंगस्टर अबू सलेम सहित अन्य पर आरोप है कि उन्होंने 1993 मुंबई बम ब्लास्ट से पहले बॉलीवुड अभिनेता संजय दत्त के घर जाकर उन्हें दो एके-47 राइफलें और हथगोले दिए थे. संजय दत्त को इस मामले में एक एके-47 राइफल रखने पर दोषी ठहराया गया था और पांच साल की जेल की सजा दी गई थी.

साल 2015 में मुंबई में टाडा की विशेष अदालत के सामने अबू सलेम ने अपने बयान में इस बात से इनकार किया था कि उसने संजय दत्त को हथियार मुहैया कराए थे. सलेम ने आज दंड प्रक्रिया संहिता की धारा 313 के तहत अदालत में अपना बयान दिया था. जिसके तहत अपराधी को अपनी बात रखने का मौका दिया जाता है. कोर्ट सवाल पूछता है और दोषी अपने लिए जवाब देता है.

हत्या के मामले में पहले ही उम्रकैद की सजा पा चुके अबू सलेम नवी मुंबई के तालोजा जेल में बंद है. 12 मार्च 1993 के 13 जगहों पर सिलसिलेवार बम धमाके हुए थे. इन बम धमारों में 257 लोगों की मौत और 713 लोग घायल हुए थे. अबू सलेम को 2005 में पुर्तगाल से प्रत्यार्पण के जरिए लाया गया था. डाटा की विशेष अदालत इन बम धमाकों में पहले ही 100 लोगों को दोषी ठहरा चुकी है. इनमें से एक संजय दत्त भी है. जो सजा पूरी करने के बाद जेल से रिहा हो चुके है.

आपको बता दे, याकूब मेमन को इस कोर्ट ने फांसी की सज़ा सुनाई थी. जिसके बाद 30 जुलाई 2015 में याकूब को फांजी दी गई.

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY