बीजेपी और आरएसएस से डरो मत, डर को गुस्से में बदलो- राहुल गांधी

0
70

राहुल गांधी ने बुधवार को मोदी सरकार और आरएसएस पर आरोप लगाया कि ये लोगों में ‘भय’ का माहौल पैदा कर रहे हैं लेकिन इनसे डरो मत. राहुल के मुताबिक कांग्रेस का दर्शन भय के खिलाफ खड़े होना है और कांग्रेस इनकी विचारधारा को परास्त करेगी और बीजेपी को सत्ता से उखाड़ फेंकेगी. राहुल ने अपनी पार्टी को नयी सीख और उम्मीद दिखाते हुए कहा कि किसी से भी डरने की जरूरत नहीं है. उनकी राजनीति और ढांचे का आधार इस भय को गुस्से में बदलना है.

राहुल ने कहा, “आप भाजपा की नीतियों को देखें. पूरा मकसद देश के लोगों को डराने का है. आतंकवाद, माओवाद, नोटबंदी से डराओ, मीडिया को डराओ. पिछले दो..तीन महीने में पूरे देश में ऐसा डर फैल गया है. लेकिन इनसे डरो मत ”

कांग्रेस उपाध्यक्ष ने कहा, “ये लोग सोचते हैं कि वे लोगों के बीच भय और घृणा फैला कर शासन कर सकते हैं. कांग्रेस पार्टी इन्हें परास्त करेगी और सत्ता से हटा देगी. हम उनसे (बीजेपी और आरएसएस) से घृणा नहीं करते हैं लेकिन हम उनकी विचारधारा को परास्त कर देंगे.”

कांग्रेस और बीजेपी की लड़ाई को दो विचारधाराओं के बीच का संघर्ष करार देते हुए कांग्रेस उपाध्यक्ष ने कहा कि, “यह दो दर्शन के बीच की लड़ाई है. यह लड़ाई हजारों वर्षो पुरानी है. कांग्रेस पार्टी का दर्शन कहता है कि भयभीत नहीं हों. दूसरा दर्शन कहता है कि भयभीत करो, डराओ.”

उन्होंने कहा कि, “कांग्रेस पार्टी भय को समाप्त करने के लिए खड़ा होगी. भारत एक मजबूत देश है और यहां के लोगों को दुनिया में किसी से भी डरने की जरूरत नहीं है. उनकी राजनीति और ढांचे का आधार भय को गुस्से में बदलने का है.”

राहुल गांधी ने कहा कि, “कांग्रेस पार्टी में भयमुक्त होकर आगे बढ़ने का दर्शन है और यह महात्मा गांधी, जवाहर लाल नेहरू से लेकर देखा गया है जो अंग्रेजों से भयभीत नहीं होने की बात कहता था. हरित क्रांति के दौरान किसानों को भयमुक्त होने को कहा गया, बैंकों के राष्ट्रीयकरण के दौरान और संप्रग सरकार के समय खाद्य सुरक्षा कानून और भूमि अधिग्रहण कानून के समय लोगों को भयमुक्त होने का संदेश दिया गया.”

राहुल गांधी ने कहा कि, “कांग्रेस पार्टी जहां मजदूरों और किसानों को भयमुक्त होकर आगे आने को कहती है, उन्हें 100 दिनों के रोजगार की गारंटी देने की बात करती है, यह भी कहती है कि बाजार मूल्य से कम कीमत पर किसी की जमीन नहीं ली जायेगी, वहीं नरेन्द्र मोदी उनसे पैसा और जमीन छीन रहे हैं. झारखंड, छत्तीसगढ़ और मध्यप्रदेश जैसे राज्यों में जहां आदिवासी अपनी जमीन, जल और वन अधिकारों के लिए खड़े हो रहे हैं, उनका दमन किया जा रहा है.”

नरेंद्र मोदी के नोटबंदी के फैसले पर निशाना साधते हुए राहुल गांधी ने कहा, “करोड़ों लोग लाइनों में खड़े थे. क्यां आपने वहां पर किसी भ्रष्ट व्यक्ति को खड़ा हुआ पाया? भ्रष्ट लोग बैंक के पीछे के दरवाजे पर थे. मोदी जी ने सोचा कि जब आर्मी ने सर्जिकल स्ट्राइक कर दिया तो उन्होंने गरीबों और किसानों पर सर्जिकल स्ट्राइक कर दिया.”

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY