बिहार बोर्ड का इस साल का भी टॉपर गिरफ्तार

0
93

बिहार बोर्ड के 12 वी के आर्ट्स साइड के टॉपर गणेश कुमार का रिजल्ट सस्पेंड कर उसे गिरफ्तार कर लिया गया है. गणेश की उम्र 40 साल से ज्यादा है लेकिन वो खुद को 25 साल का बताकर 12वीं की परीक्षा में बैठा था. संगीत विषय में उसे 83 अंक मिले है लेकिन उसे संगीत की बुनियादी जानकारी नहीं है. जिस स्कूल के जरिए वो परीक्षा में बैठा उसकी भी हालत बेहद खस्ताहाल है और वहां पढ़ाई की बुनियादी सुविधाएं तो दूर कमरो में खिड़की और दरवाजे तक नहीं है.

गणेश की गिरफ्तारी के बाद बिहार में शिक्षा के स्तर और टॉपरो के हुनर की पोल एक बार फिर खुल गई है. गणेश की उम्र 40 साल है और उसके 8 साल और 3 साल के दो बेटे भी है. 1990 में उसने 10वीं की परीक्षा दी थी फिर भी उसने अपनी उम्र 25 साल लिखवाई.

बिहार बोर्ड के चेयरमैन आनंद किशोर ने बताया कि, “गणेश पर आरोप है कि उसने उम्र कम दिखाने के लिए फर्जी दस्तावेज दिए. बोर्ड ने ही गणेश के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई थी. इंटर के अलावा गणेश का मैट्रिक रिजल्ड भी सस्पेंड कर दिया गया है. स्कूल के खिलाफ भी केस दर्ज कर उससे तीन दिन में जवाब मांगा गया है.”

समस्तीपुर के रामनंदन सिंह जगदीप नारायण हायर सेकंडरी स्कूल से परीक्षा देकर टॉपर बने गणेश ने अपनी सफाई में कहा है कि, “मुझे क्या पता था मैं टॉपर बनूंगा. मैं तो झारखंड के गिरिडीह के एक गरीब घर से हूं. पिताजी नहीं हैं. दो बहनें और मां हैं. शुरू में पढ़ाई नहीं की बाद मे मेहनत मजदूरी करते हुए 10वी और 12वी तक पढ़ाई ये सोच कर की थी कि कोई सरकारी नौकरी मिल जाएगी.”

बिहार बोर्ड के नतीजो पर पिछले साल भी विवाद हुआ था और राज्य की टॉपर रूबी रॉय अपने वि,य के सही नाम भी नहीं बता पाई थी. मीडिया में मामला उछलने के बाद बोर्ड में टॉप कराने का ठेका लेने वाला स्कूल का प्रिंसिपल और टॉपर रूबी रॉय को गिरफ्तार कर लिया गया था. बोर्ड के अधिकारियो पर भी गाज गिरी थी और सरकारी सख्ती के बाद इस साल जब नताजे आए तो 65 फीसदी छात्र फेल हो गए.

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY