‘पाक़ीजा’ फिल्म की अभिनेत्री गीता कपूर को उनके बेटे ने खूब रुलाया

0
72

बॉलीवुड आज जहां ऊंचाई पर है उसका श्रेय सिर्फ पूराने अभिनेताओं और अभिनेत्रियों को जाता है. लेकिन जब बॉलीवुड को खड़ा करने वालों के पीछे कोई ना खड़ा हो तो दुख होता ही है. हिंदी सिनेमा जगत से जुड़ी एक अभिनेत्री की ऐसी खबर निकलकर सामने आई है जहां वह इलाज के लिए तड़प रही है और दो वक्त के खाने के लिए मोहताज है. खबर आई है कि फिल्‍म ‘पाकीजा’ में अपने अभिनय का लोहा मनवा चुकी जानीमानी अभिनेत्री गीता कपूर को उनका बेटा अस्‍पताल में भर्ती करवा कर फरार हो गया. 58 वर्षीया गीता कपूर का बेटा राजा कपूर उन्हें अस्‍पताल में अकेला छोड़कर भाग गया. इस घटना को सुनकर हर कोई हैरान है.

बताया जा रहा है कि पिछले महीने गीता कपूर की तबीयत खराब हो गई थी, जिसके बाद उनके बेटे राजा कपूर ने उन्‍हें एक निजी अस्‍पताल में भर्ती कराया था. कहा जा रहा उनके बेटे को जब फीस जमा करने के लिए कहा गया तो वह एटीएम से पैसे निकालने गये और फिर वापस नहीं लौटे.

फिल्‍मों में बतौर अभिनेत्री काम कर चुकीं गीता कपूर पेशे से कोरियोग्राफर हैं. एक समय वे भारतीय सिनेमा का जाना-माना चेहरा थी. बीते जमाने की अदाकारा गीता कपूर ने 100 से भी ज्यादा फिल्मों में काम किया है. गीता की चर्चित फिल्म ‘पाकीजा’ और ‘रजिया सुल्तान’ रही हैं. अस्‍पताल प्रशासन ने उनके बेटे से संपर्क करने की कोशिश की लेकिन वे नाकाम रहे.

किसी दौर में पाकीज़ा जैसी क्लासिक फिल्म में अभिनय कर चुकीं गीता कपूर अपने ही बेटे की वजह से आज बुरे दौर से गुज़र रही हैं. गीता कपूर ने फिल्म पाकीजा में अभिनेता राजकुमार और अभिनेत्री मीना कुमारी के साथ अभिनय किया था. यह फिल्म गीता की यादगार फिल्मों में से एक है.

इस घटना का पता चलते ही गीता की मदद के लिए फिल्ममेकर अशोक पंडित और प्रोड्यूसर रमेश तौरानी आगे आए. दोनों ने मिलकर गीता कपूर के अस्पताल का पूरा बिल दिया. जिसके बाद गीता को अस्पताल से छुट्टी मिली. मीडिया से बात करते हुए गीता कपूर ने बताया कि उनका बेटा उन्हें मारता है, क्योंकि मैं उसकी बुरी आदतों को रोकने की कोशिश करती हूं, मेरा बेटा मुझे चार दिनों में एक बार खाना देता है. मैं  वृद्ध आश्रम जाने के लिए तैयार नहीं थी इसलिए उसने मुझे खाने देना बंद कर दिया. मैं बिमार हुई तो अस्पताल में भर्ती कराकर भाग गया.

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY