पत्नी की लाश के साथ 24 घंटे तक ठेले को धकेलता रहा लाचार गरीब !

0
174

हैदराबाद में कुष्ठ रोग के 53 साल के एक मरीज रामुलु एकेड को अपनी पत्नी की लाश को 80 किलोमीटर तक इसलिए ठेल कर ले जाना पड़ा क्योंकि उसके पास एंबुलेंस के किराए के लिए पैसे नहीं थे. किराया ना होने पर अस्पताल ने उसे एम्बुलेंस देने से इंकार कर दिया.

रामुलु करीब 24 घंटे लगातार चलने के बाद शनिवार शाम तक विकराबाद नाम की जगह तक पहुंच गया लेकिन यहां तक आते-आते उसकी हिम्मत जवाब दे गई. और वो सड़क किनारे पत्नी की लाश को रखकर अपनी बेबसी पर फूट-फूट कर रोने लगा.

रामुलु हैदराबाद के मंदिरों में भीख मांग कर अपना गुजारा करता हैं. उनकी 64 साल की पत्नी कविथा को भी कुष्ठ रोगी थी. शुक्रवार को स्थानीय अस्पताल से लाश को अपने पैतृक गांव माईकोड ले जाने के लिए एंबुलेंस मांगी तो उससे 5000 रुपए किराया मांगा गया.

मजबूरी मे वो पत्नी की लाश को अपने हाथ ठेले पर ही रखकर धकेलता हुआ गांव के लिए चल पड़ा लेकिन 24 घंटे बाद वो लाचार थककर चूर हो गया.

बीवी की लाश के साथ सड़क के किनारे रोते रामुलु को देखकर लोगो ने पुलिस को खबर की. पुलिस ने एंबुलेंस की व्यवस्था कर रामुलु की पत्नी लाश को घर तक पहुंचाया.

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY