जयललिता की भतीजी ने बनाई नई पार्टी, भतीजे ने किया संपत्ति पर दावा !

0
128

यललिता की की 69वीं जयंती पर उनकी भतीजी दीपा जयकुमार ने नई राजनीतिक पार्टी ‘एमजीआर अम्मा दीपा फोरम’ बनाने की घोषणा है. दीपा अब जयललिता के चुनावी क्षेत्र आर.के. नगर से चुनाव भी लड़ेंगी. दीपा का कहना है कि, “ये समय की मांग है कि अम्मा की घरोहर को राज्य और पार्टी में बढ़ाया जाए. यही कारण है कि मैंने राजनीति में आने का फैसला किया है. दीपा के भाई दीपक जयकुमार ने भी सामने आकर जयललिता की सारी प्रॉपर्टी पर अपना और बहन दीपा का अधिकार बताया है.

दीपा के मुताबिक, “ मैं लोगों के आग्रह पर ही मैं राजनीति में आई हूं. अब लोगों पर निर्भर है कि वे मुझे किस तरह अपनाते हैं. अगर मुझे लोगों का साथ मिला, तो मैं निश्चित रूप से जयललिता की विरासत को आगे बढ़ाऊंगी.”

दीपा ने कहा है कि, “अभी हम शशिकला के विरोधी गुट पन्नीरसेल्वम के साथ काम करेंगे. कोशिश है कि राज्य में लोगो की पसंद और भ्रष्टाचार मुक्त सरकार हो.”

दीपा जयाकुमार ने इस मौके पर एडीएमके का नया लोगो जारी किया  जिसमे एक तरफ पूर्व मुख्यमंत्री एमजी रामचंद्रन हैं, तो दूसरी तरफ जयललिता. इनके बीच में जलती मशाल है.3285

उधर, दीपा के भाई और जयललिता के भतीजे दीपक जयकुमार ने दावा किया है कि, “जयललिता ने अपनी वसीयत में प्रॉपर्टी उनके और बहन दीपा जयकुमार के नाम कर दी  थी. इसमें पोएस गॉर्डन का वेदा निलयम भी शामिल है.”

जयकुमार का कहना है कि, “वीके शशिकला का सीएम की कुर्सी पर बैठना तमिलनाडु की जनता ने स्वीकार नहीं किया.”

गुरुवार को मीडिया में दिए एक इंटरव्यू में दीपक ने उन दिनकरण और वेंकटेश को पार्टी में दोबारा पार्टी में शामिल किए जाने पर भी सवाल उठाया जिन्हे जयललिता ने पार्टी से निकाल दिया था. दीपक ने कहा, “वेंकटेश और दिनाकरण दोनो ही पार्टी में फैमिली रूल लाना चाहते हैं और हो सकता है कि वो शशिकला पर पार्टी को हैंडओवर करने का दबाव बनाएं.
दीपा जयकुमार को पार्टी में पोजिशन दी जा सकती है, लेकिन दिनाकरण और वेंकटेश को नहीं. पार्टी कैडर भी इसको मंजूर नहीं करेगा. अगर ऐसा होता है तो ऐसे हालात पैदा हो सकते हैं, जिससे पार्टी में बंटवारा हो जाए.”

शशिकला का समर्थन करने वाले दीपक जयकुमार ने अब पन्नीरसेल्वम का सपोर्ट किया है. उन्होंने कहा, “मैं उनका सम्मान करता हूं और वो एक अच्छे मुख्यमंत्री थे। वो अभी भी पार्टी में हैं। उन्हीं की पार्टी में निकालने और वापस लेने का सवाल ही नहीं उठता”

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY