जब मंगोलिया के कोच मैट पर हो गए नंगे !

0
134

रियो ओलंपिक में भारतीय पहलवान योगेश्वर दत्त को हराकर टूर्नामेंट से बाहर करने वाला मंगोलिया का पहलवान मंदाखनारन गेंजोरिग जब बड़े नाटकीय ढंग से कांस्य पदक से चूक गया तो फैसले से नाराज उसके दो कोचो ने विरोध में अपने कपड़े उतार दिए. जजों और रेफरी के फैसले से नाराज इन नंगे कोचो को सुरक्षा कर्मियों ने जैसे-तैसे मैट से उतारा.

फैसले से नाराज मंगोलिया के मुख्य कोच सेरेनबतार सोगतबयार और सहायक कोच ब्यांबरेनचिन बयारा ने कहा, ” रैफरी की गलती थी और हमने जो किया वह इसी के विरोध में था. मंगोलिया के 30 लाख लोग इस ब्रॉन्ज मेडल का बेसब्री से इंतजार कर रहे थे और अब हमारे पास कोई मेडल नहीं है. रेफरी ठीख नहीं थे. वे सिर्फ उज्बेकिस्तान का समर्थन कर रहे थे.”

 रविवार को ब्रॉन्ज मेडल के लिए 65 किलोग्राम भार वर्ग में मंगोलिया के पहलवान मंदाखनारन गेंजोरिग का मुकाबला उज्बेकिस्तान के पहलवान इख्तियार नवरुजोव से ङुआ. मंगोलियाई पहलवान 7-6 से आगे चल रहा था. मुकाबला खत्म होने में से 18 सेकेंड पहले मंगोलियाई पहलवान मंदाखनारन ने समय काटने के लिए मैट पर इधर-उधर दौड़ना शुरू कर दिया.

उज्बेकिस्तान ने एतराज जताया कि मंगोलियाई पहलवान लड़ने की बजाय इधर-उधर भाग रहा था और लगभग 10 सेकेंड पहले ही जीत का जश्न मनाने लगा. जजों ने सजा के तौर पर पेनल्टी अंक उज्बेक पहलवान को दे दिए. इसके चलते अंतिम अंक की वजह से बराबरी पर पहुंचकर उज्बेकिस्तान के पहलवान ने मंगोलिया के पहलवान मंदाखनारन गेंजोरिग को हराकर मुकाबला जीत लिया.

भारतीय पहलवान योगेश्वर दत्त को हराने के बाद मंदाखनारन रशियन पहलवान से हार गया. लेकिन जब रशियन खिलाड़ी फाइनल में पहुंच गया तो उन्हें रैपरेज खेलने के मौका मिला. रैपरेज के पहले दौर में उसने कनाडा के ग्रसिया को 3-0 से हरा दिया लेकिन दूसरे दौर में वो जीतते-जीतते हार गया.

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY