गुजरात में गौहत्या पर होगी उम्रकैद की सजा !

0
272

गुजरात में अब गोवंश की हत्या करने वालों को आजीवन कारावास तक की सजा होगी और गोवंश से जुड़े सभी अपराध गैरजमानती होंगे. राज्य में रात के वक्त गोवंश लाने-ले जाने पर भी रोक लगा दी गई है. गुजरात में गोरक्षा कानून पहले से है, लेकिन कानून होने के बाद भी गोवंश का अवैध कारोबार रुक नहीं पा रहा था.

गृह राज्य मंत्री प्रदीप सिंह जडेजा ने विधानसभा में गुजरात पशु संरक्षण विधेयक 2017 पेश करते हुए कहा कि बचपन से गोमाता का दूध पीकर बड़ा हुआ हूं. अब गोमाता के दूध का कर्ज उतारने का मौका मिला है. एक हिंदू के रूप में गोरक्षा कानून पेश करते हुए गर्व महसूस करता हूं.

गौवंश की रक्षा पर बने नए कानून के मुताबिक

  •  गोहत्या मामले में कम से कम 10 साल और अधिकतम उम्रकैद की सजा और 5 लाख रुपये के जुर्माने का प्रावधान
  • गोवंश को लाने-ले जाने, गोमांस का संग्रह, बिक्री जैसे मामलों में 7 से 10 साल की सजा और एक से पांच लाख रुपये का जुर्माना लगेगा.
  • शाम को 7 बजे से सुबह 5 बजे तक गोवंश को लाने-ले जाने पर रोक रहेगी.

गृह राज्य मंत्री प्रदीप सिंह जडेजा ने कहा कि, “गाय देश का कृषि शास्त्र, अर्थशास्त्र, विज्ञान और चिकित्सा शास्त्र है. गोहत्या क्रूरतम अपराध है और गोमांस खाने वाले जानवर से भी बदतर होते हैं.”

उन्होंने कहा कि, “महात्मा गांधी भी गोहत्या के प्रति गहरी चिंता व्यक्त करते थे, रुपाणी सरकार ने उनके सपने को पूरा कर दिया है.”

जडेजा ने कहा कि, “जहां-जहां गोहत्या होती है वहां गरीबी होती है. उत्तर प्रदेश में गोहत्या होती रही है इसीलिए वहां गरीबी पैर पसारे हुए है.”

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY