खेल रत्न: ‘मुझे ये सम्मान 12 साल पहले मिलना चाहिए था’

0
158

पैरालिंपिक में भाला फेंक प्रतियोगिता में गोल्ड मैडल जीतने वाले देवेंद्र झझाड़िया को राजीव गांधी खेल रत्न पुरस्कार से सम्मानित किया जाएगा. देवेंद्र झझाड़िया पहले ऐसे पैरालंपिक खिलाड़ी है जिन्हें भारत में खेल के सबसे बड़े सम्मान से सम्मानित किया जाएगा. देवेंद्र झझाड़िया पहले ऐसे पैरालिंपिक खिलाड़ी है जिन्होंने दो बार पैरालिंपिक खेल में स्वर्ण पदक भारत को दिलाया है.

दूसरी तरफ हॉकी के पूर्व खिलाड़ी सरदार सिंह को भी राजीव गांधी खेल रत्न के लिए चयनित किया गया है.

आपको बता दे, झझाड़िया ने 63.97 मीटर तक भाला फेंक विश्व रिकॉर्ड के साथ रियो पैरालिंपिक में अपना दूसरा स्वर्ण पदक हासिल किया था. 2012 में पूर्व राष्ट्रपति प्रतिभा पाटिल ने झझाड़िया को पद्म श्री पुरस्कार से सम्मानित किया था.

खेल रत्न अवॉर्ड के अलावा 17 खिलाड़ियों के नाम अर्जुन अवॉर्ड् के लिए चयनित किए गए है. इनमें एक नाम पैरालिंपिक में ही ऊंची कूद में गोल्ड मैडल जीतने वाले मरियप्पन थांगावूले का है. मरियप्पन ने रियो पैरालिंपिक में गोल्ड मैडल जीता था.

देवेंद्र झझाड़िया ने सम्मान मिलने पर खुशी जाहिर की. साथ ही उन्होंने कहा, मुझे यह सम्मान 12 साल पहले मिलता तो और अधिक खुशी होती. उन्होंने कहा कि जब मैंने एथेंस पैरा ओलंपिक में गोल्ड जीता था यह सम्मान मुझे तब मिलता तो और अधिक खुशी होती.

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY