केरल में आरएसएस दफ्तर के बाहर बम धमाका, 4 घायल !

0
139

केरल में नदापुरम इलाके में आरएसएस के दफ्तर के पास गुरुवार को बम धमाके में बीजेपी के चार कार्यकर्ता घायल हो गए हैं. हमले से कुछ घंटे पहले ही आरएसएस के सह प्रचार प्रमुख कुंदन चंद्रावत ने केरल के मुख्यमंत्री का सिर लाने वाले को 1 करोड़ रुपे का इनाम देने की घोषणा की थी. उन्होंने कहा था कि आरएसएस से जुड़े 300 बेकसूर लोग मार दिए गए लेकिन इस पर केरल के मुख्यमंत्री ने आंखें मूंद रखी है.

केरल में वामपंथी और संघ परिवार में दशको से खूनी टकराव जारी है. वामपंथ के गढ़ में आरएसएस से जुड़े लोगो की हत्या और हमले की खबरे अक्सर बड़ी सुर्खियां नहीं बन पाती है. राज्य में राजनीतिक हिंसा में पिछले कुछ सालो में तेजी आई है. संघ के दफ्तर में बम धमाका इसी की ताजा मिसाल है.

बीजेपी के वरिष्ठ नेता और राज्यसभा सासंद विनय कटियार ने कहा है कि, “ धमाके से साफ है कि राज्य सरकार की क्या भूमिका है. केरल में अब राष्ट्रपति शासन लगना चाहिए.”

कुंदन चंद्रावत ने केरल के मुख्यमंत्री पिनराई विजयन का सिर कलम करने पर एक करोड़ रुपए के इनाम की घोषणा की थी.
चंद्रावत के बयान पर संघ के राष्ट्रीय सह प्रचार प्रमुख जे. नंद कुमार ने कहा है कि, “आरएसएस ऐसी टिप्पणियों की सख्त निंदा करता है. संघ हिंसा में यकीन नहीं रखता.”

सीपीएम के महासचिव सीताराम येचुरी ने आरोप लगाया था कि, “चंद्रावत की टिप्पणी से आतंकी संगठन के रूप में आरएसएस का असली रंग सामने आया है.”

सीपीएम पोलित ब्यूरो ने राज्य और केंद्र सरकार से चंद्रावत के खिलाफ कार्रवाई की मांग करते हुए एक बयान में कहा है कि, “सरकार की चुप्पी आरएसएस को इस तरह की निंदा योग्य धमकियों के लिए प्रोत्साहित करती है. इसने फिर से पुष्टि की है कि यह हिंसा और आतंक की राजनीति को फैलाता है जैसा कि हाल के महीनों में केरल में भी स्पष्ट दिखा है.”

गौरतलब है कि केरल में वामपंथी सरकारो के दौर में राजनैतिक हिंसा और हमले दशको से हो रहे है लेकिन संघ के दफ्तर के बाहर बम धमाके से अब राज्य की राजनीतिक हिंसा बड़ा मुद्दा बनकर सबसे सामने आ गई है.

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY