कश्मीर में सेना के लेफ्टिनेंट का अपहरण कर हत्या

0
96

श्मीर के हरमन में सेना के लेफ्टिनेंट उमर फयाज का अपहरण कर आंतकवादियो ने गोली मारकर हत्या कर दी. कुलगाम के रहने वाले लेफ्टिनेंट उमर फयाज 6 महीने पहले ही सेना में अफसर बने थे. मंगलवार की रात वो बेहिबाग के नजदीक बातापुरा में अपने चाचा की बेटी की शादी में गए थे. लेकिन रात दस बजे के करीब आतंकियों ने उन्हें अगवा कर लिया. सुबह 5 गोलियों से छलनी उनकी लाश हरमन के एक बाग में मिली.

रक्षामंत्री अरुण जेटली ने कहा कि, “आतंकवादियो द्वारा लेफ्टिनेंट उमर फैयाज का अपहरण और उनकी हत्या करना कायरता है. जम्मू-कश्मीर का यह यंग अफसर लोगों का रोल मॉडल था. उमर फैयाज एक खिलाड़ी भी थे, उनके बलिदान ने घाटी से आतंकवाद को खत्म करने के लिए देश के कमिटमेंट को जाहिर किया है.”

सेना ने बयान जारी कर कहा कि, “वह वीर जवान को सलाम करती है और दुख की घड़ी में सेना उनके परिवार के साथ खड़ी है.”

कुलगाम के रहने वाले लेफ्टिनेंट उमर फयाज आजकल छुट्टी पर थे. वो कश्मीर के अखनूर में राजस्थान राइफल्स के यूनिट में तैनात थे. एनडीए पासआउट लेफ्टिनेंट फयाज को 10 दिसंबर 2016 को सेना में कमीशन मिला था. फयाज एनडीए में हॉकी टीम के कैप्टन थे और वॉलिबॉल के भी अच्छे खिलाड़ी थे.

कश्मीर में आंतकवादियो का पाकिस्तान का खुला समर्थन है. इससे पहले 1 मई को कृष्णा घाटी सेक्टर में पाकिस्तान की बॉर्डर एक्शन टीम दो भारतीय जवानो के सिर काटकर अपने साथ ले गए थे. सेना ने इसका करारा जवाब देते हुए पाकिस्तान की सेना के 6 बंकरों को उड़ाकर उसके 7 सैनिको को मार गिराया था.

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY