ईवीएम में गड़बड़ी से पंजाब में हारे, हमारा वोट कांग्रेस, अकाली-बीजेपी को मिला-केजरीवाल

0
127

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने बुधवार को आरोप लगाया कि उनकी पार्टी आप को पंजाब में सरकार बनाने से रोकने के लिए ईवीएम में छेड़छाड़ की गई. केजरीवाल ने ईवीएम पर सवाल उठाते हुए ये भी कहा है कि पंजाब विधानसभा चुनाव में आम आदमी पार्टी के वोट अकाली दल गठबंधन और कांग्रेस को ट्रांसफर किए गए. इसकी नतीजा ये रहा कि कांग्रेस को इतनी बड़ी जीत मिली और अकाली-बीजेपी गठबंधन को भी आप से 6 फीसदी ज्यादा वोट मिल गए.

केजरीवाल ने आशंका जताई कि ईवीएम में छेड़छाड़ कर आप के वोट अकाली गठबंधन को ट्रांसफर कर दिए गए. उन्होंने आरोप लगाते हुए कहा कि, “हमारे 20-25% वोट अकाली गठबंधन और कांग्रेस में शिफ्ट कर दिए गए.”

केजरीवाल ने दिल्ली में एक प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कहा कि, “हर सर्वे में आप की जीत की भविष्यवाणी की गई थी. लेकिन हम दूसरे नंबर पर चले गए. पंजाब में अकाली गठबंधन को हराने के लिए लोगों ने वोट डाले लेकिन इसके बावजूद गठबंधन को 30% वोट कैसे मिल गए.? पंजाब के लोग तक मानकर चल रहे थे कि यहां आप जीत रही है, लेकिन हमें केवल 25% वोट ही मिले, आखिर ऐसा कैसे हो गया कि अकाली गठबंधन से करीब 6% वोट हमें कम मिले?”

केजरीवाल ने कहा कि, “किसी भी सर्वे में कांग्रेस की ऐसी जीत की भविष्यवाणी नहीं की गई थी, लेकिन राज्य में कांग्रेस दो तिहाई सीट जीत गई. ”

केजरीवाल ने साफ किया कि, “हमारा मकसद इन चुनावों को रद्द करना नहीं है. मैं एक-दो दिन में चुनाव आयोग को चिट्ठी लिखूंगा और आग्रह करूंगा कि वह ईवीएम मशीन के साथ लगे वीवीपैट की पर्ची की गिनती कर उसका मिलान ईवीएम के नतीजे से करे. क्योंकि अगर ऐसा नहीं होता है तो फिर लोगों का लोकतंत्र पर भरोसा मिट जाएगा. अगर यह संदेश जाता है कि ईवीएम में गड़बड़ हो सकती है तो फिर कुछ नहीं बचेगा.”

केजरीवाल से जब पूछा गया कि दिल्ली में आप की जोरदार जीत पर उन्होने ईवीएम पर शक क्यों नही जताया तो उन्होने कहा कि, “मेरा मानना है कि दिल्ली में किरण बेदी को सीएम उम्मीदवार घोषित करने के बाद बीजेपी अपने जीत के आत्मविश्वास से भरी थी और इसलिए ऐसा कुछ नहीं हुआ. बिहार में भी कई सर्वे में बीजेपी के जीत का अनुमान लगाया गया था.”

अरविंद केजरीवाल ने आगे कहा कि, “उत्तर प्रदेश के चुनावों से भी ईवीएम की फंक्शनिंग पर सवाल उठ रहे हैं. कुछ न कुछ तो गड़बड़ है. मेरे सवाल उठाने के बाद मीडिया मेरा मजाक उड़ा सकता है लेकिन ऐसी बातें सुप्रीम कोर्ट ने भी कही हैं. दुनिया के कई विकसित देशों से ईवीएम बैन किए जा रहे हैं ऐसे में उनपर सवाल उठने लाजमी हैं. बीजेपी ने भी सत्ता में न रहने पर इनका विरोध जताया और अब उनके लिए सब कुछ सही हो गया. लाल कृष्ण आडवाणी और सुब्रमण्यम जैसे भाजपा नेताओं ने इस पर सवाल उठाया है.”

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY