आन्ध्र प्रदेश के कैशलेस होने पर विमान से आए 2420 करोड़ रुपए !

0
136

आंध्र प्रदेश के मुख्‍यमंत्री चंद्रबाबू नायडू को राज्य के ‘कैशलेस’ हो जाने पर रिजर्व बैंक के गवर्नर उरजीत पटेल को फोन करना पड़ा. चंद्रबाबू के फोन के बाद आरबीआई ने स्‍पेशल चार्टर्ड फ्लाइट से 2420 करोड़ रुपये विशाखापत्तनम और तिरुपति भिजवाए. चंद्रबाबू नायडू नोटबंदी को लेकर हाई पावर्ड कमिटी के मुखिया भी है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस कमिटी का गठन डिजीटल इकॉनामी को लेकर कदम उठाने के लिए किया है लेकिन नायडू को भी कैश की किल्लत से जूझना पड़ा.

आंध्र के सरकारी कर्मचारियों और पेंशनर्स का खर्च 3000 करोड़ रुपये मासिक है. वादा करके भी एक दिसंबर तक 3000 करोड़ रुपये उपलब्‍ध कराने में नाकाम रहने पर नायडू ने आरबीआर्इ से नाराजगी भी जताई है.

विजाग में एयरपोर्ट पर कोई प्राइवेट प्‍लेन नहीं आता है लेकिन नोटो से भरा चार्टेड प्लेन को यहां उतारना पड़ा. मुख्‍यमंत्री चंद्रबाबू नायडू ने बताया, ”हमने सड़क मार्ग के जरिए कैश भिजवाने का प्रयास किया. हमने बैंकों से कहा कि वे सभी लोगों तक पैसे पहुंचाए”

राज्‍य के अधिकारियों के अनुसार 240 करोड़ रुपये उन जिलों को भेजे गए जो सबसे ज्‍यादा प्रभावित थे. वहीं बाकी जिलों को 160 करोड़ रुपये दिए गए.

 

आंध्र में वरिष्‍ठ नागरिकों, दिव्‍यांगों और महिलाओं को नकदी के लिए सबसे ज्‍यादा दिक्‍कत का सामना करना पड़ा है. बैंकों को 5000 करोड़ रुपये की जरूरत है लेकिन केवल 1300 करोड़ रुपये से ही काम चलाना पड़ रहा है.

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY